योजनाएं

जमीन किराए पर लेने वाले बटाईदार / किराएदार को भी मिलेगा फसल बीमा योजना का लाभ, जानिए पूरी प्रक्रिया

सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PM Crop Insurance Scheme 2022) में जमीन किराए पर लेने वाले किराएदार को भी शामिल कर लिया है, जानिए पूरी प्रक्रिया

PM Crop Insurance Scheme 2022 | बटाई पर खेती करने वाले लाखों किसानों के लिए उम्मीद भरी खबर है। सरकार द्वारा चलाई जा रही प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से अब किराए पर जमीन लेने वाले किराएदार भी योजना का लाभ उठा सकेंगे। योजना उन किसानों पर प्रीमियम का बोझ कम करने में मदद करेगी जो अपनी खेती के लिए ऋण लेते हैं और खराब मौसम से उनकी रक्षा भी करेगी। किराएदार योजना का लाभ कैसे ले संबंधित दस्तावेज क्या-क्या चाहिए जाने
प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना 18 फरवरी 2016 को प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई थी। 21 राज्यों ने इस योजना को खरीफ 2016 में लागू किया जबकि 23 राज्यों और 2 केंद्र शासित प्रदेशों ने रबी 2016-17 में इस योजना को लागू किया है। 31 मार्च 2017 को उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, लगभग 3.7 करोड़ किसानों को खरीफ 2016 में 3.7 करोड़ हेक्टेयर भूमि के लिए 16212 करोड़ रुपये के प्रीमियम पर 128568.94 करोड़ रुपये की बीमा राशि का बीमा किया गया है।

कौन-कौन योजना का लाभ (PM Crop Insurance Scheme 2022) ले सकते हैं

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत प्राकृतिक आपदा से फसलों के नुकसान को कवर किया जाता है। इस योजना के तहत अलग-अलग श्रेणी के किसानों को भी बीमा योजना का लाभ दिया जाता है। इस योजना के तहत किन किन किसानों को कवर किया जाता है।

योजना का उद्देश्य

  • कृषि में किसानों (PM Crop Insurance Scheme 2022) की सतत प्रक्रिया सुनिश्चित करने के लिए उनकी आय को स्थायित्व देना।
  • कृषि क्षेत्र में ऋण के प्रवाह को सुनिश्चित करना।
  • प्राकृतिक आपदाओं, कीट और रोगों के परिणामस्वरूप अधिसूचित फसल में से किसी की विफलता की स्थिति में किसानों को बीमा कवरेज और वित्तीय सहायता प्रदान करना।
  • किसानों को कृषि में नवाचार एवं आधुनिक पद्धतियों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना।

फसल बीमा वेब पोर्टल और मोबाइल ऐप्प

  • भारत सरकार ने हाल ही में बेहतर प्रशासन, समन्वय, जानकारी के समुचित प्रचार-प्रसार और पारदर्शिता के लिए एक बीमा पोर्टल शुरू किया है।
  • साथ ही एंड्रॉयड आधारित “फसल बीमा ऐप” भी शुरू किया गया है जो फसल बीमा, कृषि सहयोग और किसान कल्याण विभाग (डीएसी एवं परिवार कल्याण) की वेबसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है।

किसानों की आय को स्थिर करने में मदद

PMFBY फसल की विफलता के खिलाफ एक व्यापक बीमा (PM Crop Insurance Scheme 2022) कवर प्रदान करता है जिससे किसानों की आय को स्थिर करने में मदद मिलती है। इस योजना में सभी खाद्य और तिलहन फसलों और वार्षिक वाणिज्यिक/बागवानी फसलों को शामिल किया गया है, जिनके लिए पिछले उपज डेटा उपलब्ध है और जिसके लिए सामान्य फसल अनुमान सर्वेक्षण (जीसीईएस) के तहत अपेक्षित संख्या में फसल कटाई प्रयोग (सीसीई) किए जा रहे हैं।

फसल बीमा की सूची जारी

अशोकनगर- मक्का, सोयाबीन, उड़द।
छतरपुर- सोयाबीन, धानअसिंचित, तुवर, ज्वार, तिल, मूंगफली, मूंग, उड़द।
दमोह- धानसिंचित, धानअसिंचित, तुवर, सोयाबीन, उड़द।
दतिया- धानसिंचित, ज्वार, तिल, मूंगफली, उड़द
गुना- मक्का, सोयाबीन, ज्वार, उड़द।
ग्वालियर- सोयाबीन, धानसिंचित, ज्वार, तिल, उड़द, बाजरा।
पन्ना- मक्का, धानसिंचित, धानसिंचित, सोयाबीन, तूर, ज्वार, तिल, उड़द, मूंग।

करोड़ किसानों को लाभ मिलेगा

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PM Crop Insurance Scheme 2022) एक ऐसी योजना है। जिसके तहत किसानों को आपदा के कारण होने वाले फसलों के नुकसान को कवर किया जाता है। फसल खराब होने पर इस योजना के तहत बीमा कवर मिलता है। जिससे किसानों की आय स्थिर करने में मदद मिलती हैं। योजना के अंतर्गत देशभर के
अब तक 36 करोड़ किसानों को लाभ मिला है। इस योजना से नामांकित लगभग 85% किसान छोटे और सीमांत किसान है।

किसानों को 72 घंटे के अंदर फसल बीमा का लाभ मिलेगा

PM Crop Insurance Scheme 2022 | किसानों की फसलें प्राकृतिक कारणों से बर्बाद हो जाती है तो सबसे पहले 72 घंटे के अंदर बीमा कंपनी की इसकी सूची देनी होगी। इस योजना के तहत पताल किसान को 25 % बीमा राशि का भुगतान करना होगा। यह प्रावधान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत किया गया है।

खराब फसलों का आकलन ऐसे होगा

  • किसानों की फसलें क्षेत्रीय तौर पर खराब होती है तो बीमा कंपनी अपने अधिकृत प्रतिनिधि को खेतों का मुआयना करने के लिए भेजेंगी। जिसके पश्चात खेतों में खराब हो चुकी फसलों का आंकलन कर बीमा कंपनी को रिपोर्ट दी जाएगी।
  • ऑफलाइन व ऑनलाइन आवेदन कैसे करें
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ लेने के लिए किसान ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरीकों से आवेदन कर सकते हैं।
  • ऑफलाइन आवेदन के लिए किसी भी नजदीकी बैंक में इस फसल बीमा योजना का लाभ ले सकते हैं।
  • ऑनलाइन आवेदन के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PM Crop Insurance Scheme 2022) की आधिकारिक वेबसाइट पर जा कर रजिस्ट्रेशन के दौरान मांगी गई जानकारी भरनी होगी।

PM Crop Insurance Scheme 2022 | ऑनलाइन आवेदन केसे करें

  • PMFBY की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • होमपेज पर किसान कॉर्नर पर क्लिक करें।
  • अब अपने मोबाइल नंबर से लॉगिन करें और यदि आपका खाता नहीं है तो अतिथि किसान के रूप में लॉगिन करें।
  • सभी आवश्यक विवरण जैसे नाम पता आयु राज्य आदि दर्ज करे।
  • अंत में सबमिट बटन पर क्लिक कर दे।

PM Crop Insurance Scheme 2022

 

आवश्यक दस्तावेज

  • राशन कार्ड,
  • आधार कार्ड,
  • बैंक नंबर जो आधार से लिंक हो,
  • एक पासपोर्ट साइज़ फोटो,
  • खसरा बी 1,
  • निवास प्रमाण पत्र,
  • किसानों को खेत का किरायानामा संबंधी दस्तावेज जरूरी है।

खेत का किरायानामा संबंधी दस्तावेज आवश्यक

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PM Crop Insurance Scheme 2022) के अंतर्गत ऐसे किसानों को भी फसल बीमा योजना का लाभ मिलेगा, जिन किसानों ने कृषि योग्य भूमि किराए पर ली है या बटाई पर ली हो तो इसके लिए किसानों को खेत का किराया नामा या इकरारनामा संबंधी दस्तावेज आवेदन के साथ प्रस्तुत करना होंगे। किसी भी प्रकार की समस्या होने पर बीमा कंपनी ने जिला स्तर पर अपने प्रतिनिधि नियुक्त किए हैं। जिनसे संपर्क कर योजना के विषय में विस्तृत जानकारी ली जा सकती है। इसके साथ ही कृषि विभाग के अधिकारियों से भी जानकारी मिल सकती है।

यह भी पढ़िए….किसानों को नलकूप, बोरवेल व तालाब खुदवाने के लिए मिलेगा अनुदान, जानिए प्रोसेस

सेवा सहकारी संस्थाओं से जुड़े लाखों किसानों के लिए बड़ी खबर, किसानों को होगा फायदा

किसानों को ई-उपार्जन, फसल बीमा, फसल ऋण का लाभ दिलाने के लिए सरकार ने यह दिए निर्देश

छोटे एवं सीमांत किसानों को सोयाबीन का बीज फ्री में मिलेगा, इनसे करें संपर्क

जुड़िये चौपाल समाचार से-

ख़बरों के अपडेट सबसे पहले पाने के लिए हमारे WhatsApp Group और Telegram Channel ज्वाइन करें और Youtube Channel को Subscribe करें, हम सब जगह हैं।

नोट :- धर्म, अध्यात्म एवं ज्योतिष संबंधी खबरों के लिए क्लिक करें।
नोट :- टेक्नोलॉजी, कैरियर, बिजनेस एवं विभिन्न प्रकार की योजनाओं की जानकारी के लिए क्लिक करें।

राधेश्याम मालवीय

मैं राधेश्याम मालवीय Choupal Samachar हिंदी ब्लॉग का Founder हूँ, मैं पत्रकार के साथ एक सफल किसान हूँ, मैं Agriculture से जुड़े विषय में ज्ञान और रुचि रखता हूँ। अगर आपको खेती किसानी से जुड़ी जानकारी चाहिए, तो आप यहां बेझिझक पुछ सकते है। हमारा यह मकसद है के इस कृषि ब्लॉग पर आपको अच्छी से अच्छी और नई से नई जानकारी आपको मिले।
Back to top button

Adblock Detected

Please uninstall adblocker from your browser.