योजनाएं

PM Kisan : 12वीं किस्त के पहले किसानों का होगा सोशल ऑडिट, जानें सोशल ऑडिट की प्रक्रिया

पीएम किसान योजना की 12वीं किस्त के पहले किसानों का सोशल ऑडिट (PM Kisan social audit 2022) होगा।

PM Kisan social audit 2022 : पीएम किसान योजना की 12वीं किस्त का इंतजार कर रहे देश भर के करोड़ों किसानों के लिए बड़ी खबर है 12वीं की स्थिति पहले अब किसानों का सोशल ऑडिट किया जाएगा। सोशल ऑडिट कराने का मुख्य उद्देश्य यह है कि उन अपात्र किसानों के नाम कम करना जो अब तक योजना का लाभ ले रहे हैं एवं ऐसे किसानों को चिन्हित करके उनसे पीएम किसान योजना के अंतर्गत अब तक जो इन्होंने लाभ लिया है उसकी वसूली करना।

पीएम किसान सोशल ऑडिट (PM Kisan social audit 2022) क्यों करवाया जा रहा

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि यानी कि पीएम किसान योजना के प्रारंभिक चरण में, केवल छोटे और सीमांत किसान परिवार, जिनके पास 2 हेक्टेयर तक की संयुक्त भूमि थी, इस योजना के लाभों का आनंद लेने में सक्षम थे। हालाँकि, बाद में जून 2019 में, पीएम किसान योजना को संशोधित किया गया और हर किसान परिवार को उनकी जोत के आकार के बावजूद कवर करने के लिए इसका विस्तार किया गया। उसी दौरान कई अपात्र किसान इस योजना से जुड़ गए इसी कारण पीएम किसान योजना के अंतर्गत ईकेवाईसी के साथ-साथ अब सोशल ऑडिट करवाया जा रहा है।

कैसे किया जाएगा सोशल ऑडिट

ज्ञात हो कि पीएम किसान योजना (PM Kisan social audit 2022) के अंतर्गत किसानों के लिए ही ईकेवाईसी करवाना अनिवार्य कर दिया गया है। ईकेवाईसी के अंतिम तिथि 31 जुलाई निर्धारित की गई है। इसीलिए दरमियान इसी दरमियान किसानों की पात्रता सूची अपडेट की जा रही है पात्रता सूची में दर्ज नाम को ग्राम पंचायत की बैठक में पढ़कर सुनाया जाएगा। ग्राम पंचायत सचिव, पटवारी, कृषि विभाग के अधिकारी जब हम ग्रामीण जनों की मौजूदगी में पूरी सूची से अपात्र किसानों को चिन्हित किया जाएगा। इसके बाद उसका पालन प्रतिवेदन वरिष्ठ कार्यालय को भेज कर वहां से अपात्र किसानों के नाम कम किए जाएंगे। सरकार को सोशल ऑडिट का यह फार्मूला उत्तर प्रदेश से मिला है वहां पर यह सक्सेस हुआ है। सोशल ऑडिट के दौरान उत्तर प्रदेश में लाखों किसान लाखों अपात्र किसान चिन्हित किए जा चुके हैं।

e-kyc के अंतिम तारीख 31 जुलाई कैसे करवाएं

किसानों को e-kyc की प्रोसेस भी पूरी करनी होगी। इसके लिए PM किसान की ऑफिशियल वेबसाइट https://pmkisan.gov.in पर जाना होगा और e-kyc का विकल्प चुनना होगा। इसके बाद अपना आधार नंबर और रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा। अब आपके मोबाइल पर एक OTP आएगा। OTP दर्ज करने के बाद एक और आधार OTP आएगा। आधार OTP दर्ज करने के बाद ये प्रोसेस पूरी हो जाएगी। ईकेवाईसी की अंतिम तिथि 31 जुलाई निर्धारित है।

PM Kisan Yojana कब और कैसे दी जाएगी योजना की किश्तें

1 अप्रैल से 31 जुलाई तक 2,000 रुपये की पहली किस्त दी गई, जबकि दूसरी किस्त 1 अगस्त से 30 नवंबर के बीच दी गई। अंत में तीसरी किस्त 1 दिसंबर से 31 मार्च तक आती है। 75,000 करोड़ रुपये की योजना का उद्देश्य मदद करना है 125 मिलियन किसान। जब से इस योजना की स्थापना हुई है, सरकार इन किसानों को 11 किश्तें पहले ही दे चुकी है।

PM-KISAN योजना का लाभ कौन नहीं उठा पाएगा

जो संस्थागत भूमिधारक हैं, संवैधानिक पद धारण करने वाले किसान परिवार, राज्य या केंद्र सरकार के सेवारत या सेवानिवृत्त अधिकारी और कर्मचारी के साथ-साथ सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों और सरकारी स्वायत्त निकायों को पीएम-किसान योजना से बाहर रखा गया है। दूसरी ओर, कार्यरत पेशेवर जैसे डॉक्टर, इंजीनियर और वकील के साथ-साथ सेवानिवृत्त पेंशनभोगी जिनकी मासिक पेंशन 10,000 रुपये से अधिक है और जिन्होंने पिछले आकलन वर्ष में आयकर का भुगतान किया है, वे भी इस योजना के तहत कवर नहीं होंगे।

यह भी पढ़ें…Gram Suraksha Scheme in Post Office; 1500 रुपए प्रति माह जमा करने पर मिलेंगे 35 लाख रुपए, जानिए पूरी स्कीम

Big news; मध्य प्रदेश सरकार हर भूमिहीन परिवार को मुफ्त में देगी प्लाट

अपनी पीएम किसान किस्त ऐसे चेक करें

  • पीएम किसान योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://pmkisan.gov.in/ पर जाएं और किसान कॉर्नर सेक्शन खोजें
  • ‘लाभार्थी की स्थिति’ विकल्प का चयन करें जो लाभार्थी को अपने आवेदन की स्थिति को सत्यापित करने की अनुमति देता है
  • इसके बाद, किसान का नाम पंजीकृत बैंक खाते में जमा की जाने वाली राशि के साथ सूची में दिखाई देगा
  • इसके बाद ‘डेटा प्राप्त करें’ पर क्लिक करें और किसान कॉर्नर पर जाएं और ‘पीएम किसान लाभार्थी सूची’ की जांच के लिए लाभार्थी सूची का चयन करें।
  • अब अपना राज्य, जिला, उप-जिला, ब्लॉक और गांव जैसे आवश्यक विवरण दर्ज करें।

PM Kisan Yojana स्‍टेटस की जांच के लिए स्‍टेप्‍स

  • पीएम किसान सम्मान निधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट- pmkisan.gov.in पर जाएं, आपको मेनू बार से किसान कोने का विकल्प मिलेगा
  • जिसके बाद आपको अपनी स्क्रीन पर तीन विकल्प मिलेंगे (a) आधार नंबर, (b) अकाउंट नंबर और (c) मोबाइल नंबर। यह आपको किसी भी विकल्प का उपयोग करके भुगतान की जांच करने में मदद करेगा।
  • एक बार जब आप आधार नंबर, खाता संख्या या मोबाइल नंबर दर्ज कर लेते हैं, तो आपको ‘डेटा प्राप्त करें’ विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • एक बार जब आप ‘डेटा प्राप्त करें’ विकल्प पर क्लिक करते हैं, तो आपकी स्क्रीन पर पीएम-किसान की स्थिति प्रदर्शित होगी जो सभी लेनदेन की पूरी सूची दिखाएगी।

पीएम किसान लाभ प्राप्त करने के लिए किसानों को ये दस्तावेज जमा करने होंगे

नाम, आयु, लिंग और श्रेणी (एससी/एसटी) आधार संख्या (असम, मेघालय और जम्मू-कश्मीर राज्यों (अब जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के केंद्र शासित प्रदेशों के मामले में) को छोड़कर। इन राज्यों में, अधिकांश नागरिकों को आधार संख्या जारी नहीं की गई है, इसलिए उन्हें आवश्यकता से बख्शा गया है 31 मार्च 2020 तक। इन राज्यों / केंद्रशासित प्रदेशों में रहने वाले लाभार्थियों को अपना आधार नंबर जमा करना होगा जहां यह उपलब्ध है।

दूसरी ओर, राज्यों / केंद्रशासित प्रदेशों की सरकारों द्वारा पहचान सत्यापन के लिए विभिन्न वैकल्पिक निर्धारित दस्तावेज एकत्र किए जा सकते हैं जिनमें आधार नामांकन शामिल है। संख्या और/ड्राइविंग लाइसेंस, मतदाता पहचान पत्र, नरेगा जॉब कार्ड, या केंद्र/राज्य/संघ राज्य क्षेत्र सरकारों या उनके अधिकारियों द्वारा जारी कोई अन्य पहचान दस्तावेज, बैंक खाता संख्या और IFSC कोड।

समस्या समाधान के लिए यहां संपर्क करें किसान

PM Kisan social audit 2022 : प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि संबंधी किसी भी तरह की परेशानी हो तो किसान सरकार द्वारा जारी हेल्पलाइन नंबरों पर 011-23381092, 155261 संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा सरकार ने टोल फ्री नंबर 1800115526 जारी कर रखा है। किसान इस पर भी संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें…

पीएम किसान योजना, योजना से वंचित रह गए हो तो यह करे

केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना की अवधि बढ़ाई, बनाए जाएंगे 2.95 करोड़ पक्के मकान

MP; किसानों के लिए बड़ी खबर, प्रदेश सरकार किसानों को बिजली के लिए देगी करोड़ों का अनुदान

जुड़िये चौपाल समाचार से-

ख़बरों के अपडेट सबसे पहले पाने के लिए हमारे WhatsApp Group और Telegram Channel ज्वाइन करें और Youtube Channel को Subscribe करें, हम सब जगह हैं।

नोट :- धर्म, अध्यात्म एवं ज्योतिष संबंधी खबरों के लिए क्लिक करें।

नोट :- टेक्नोलॉजी, कैरियर, बिजनेस एवं विभिन्न प्रकार की योजनाओं की जानकारी के लिए क्लिक करें।

राधेश्याम मालवीय

मैं राधेश्याम मालवीय Choupal Samachar हिंदी ब्लॉग का Founder हूँ, मैं पत्रकार के साथ एक सफल किसान हूँ, मैं Agriculture से जुड़े विषय में ज्ञान और रुचि रखता हूँ। अगर आपको खेती किसानी से जुड़ी जानकारी चाहिए, तो आप यहां बेझिझक पुछ सकते है। हमारा यह मकसद है के इस कृषि ब्लॉग पर आपको अच्छी से अच्छी और नई से नई जानकारी आपको मिले।
Back to top button

Adblock Detected

Please uninstall adblocker from your browser.