योजनाएं

MP मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना ; किसानों को कितना मिलेगा अनुदान, क्या है योजना के नियम, जानें सब कुछ

मध्यप्रदेश सरकार द्वारा किसानों के लिए मुख्यमंत्री सोलर पम्प योजना (Solar Pump Scheme for Madhya Pradesh) चलाई जा रही है, इस योजना के तहत कितना अनुदान दिया जाएगा। जानें योजना की जानकारी एवं नियम..

Solar Pump Scheme for Madhya Pradesh | मध्यप्रदेश सरकार किसानों के लिए मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना चला रही है। इस योजना के अंतर्गत किसानों को सोलर पंप पर अनुदान दिया जाता है। सरकार द्वारा चलाई जा रही इन योजनाओं का मुख्य उद्देश्य यह है की, देशभर के गरीब एवं सीमांत किसानों को अपनी खेती के लिए आर्थिक सहायता मिल जाए और वह आसानी से खेती कर सके।

इस तरह मिलेगा सोलर पंप पर अनुदान (Solar Pump Scheme for Madhya Pradesh)

सोलर पम्प स्थापना हेतु ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये जाते हैं, जिसमें भारत शासन व मध्यप्रदेश शासन द्वारा अनुदान दिया जा रहा है। इस योजनांतर्गत कृषक को सोलर पम्प का लाभ इस शर्त पर दिया जाएगा कि कृषक की कृषि भूमि के उस खसरे/बटांकित खसरे पर भविष्य में विद्युत पम्प लगाये जाने पर उसको विद्युत प्रदाय पर कोई अनुदान (Solar Pump Scheme for Madhya Pradesh) देय नहीं होगा।

कृषक द्वारा स्वप्रमाणीकरण भी दिया जाएगा कि वर्तमान में कृषक के उस खसरे/बटांकित खसरे की भूमि पर विद्युत पम्प संचालित/ संयोजित नहीं है। यदि सम्बन्धित कृषक उक्त विद्युत पम्प (Solar Pump Scheme for Madhya Pradesh) का कनेक्शन विच्छेद करवा लेता है अथवा उस पर प्राप्त अनुदान छोड़ देता है, तब उसे सोलर पम्प स्थापना पर अनुदान दिया जा सकता है।

सोलर पम्प प्रकार

क्र. सोलर पंपिंग सिस्टम के प्रकार हितग्राही किसानअंश (रु.) डिस्चार्ज (लीटर में प्रतिदिन)
1 1 एच.पी.डी.सी. सबमर्सिबल 47,213/- 30 मी. के लिए 45600, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 45 मी.
2 2 एच.पी.डी.सी. सरफेस 55,819/- 10 मी. के लिए 198000, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 12 मी.
3 2 एच.पी.डी.सी. सबमर्सिबल 59,882/- 30 मी. के लिए 68400, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 45 मी.
4 3 एच.पी.डी.सी. सबमर्सिबल 76,312/- 30 मी. के लिए 114000, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 45 मी.
50 मी. के लिए 69000, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 70 मी.
70 मी. के लिए 45000, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 100 मी.
5 5 एच.पी.डी.सी. सबमर्सिबल 1,04,577/- 50 मी. के लिए 110400, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 70 मी.
70 मी. के लिए 72000, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 100 मी.
100 मी. के लिए 50400, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 150 मी.
6 7.5 एच.पी.ए.सी.सबमर्सिबल 1,52,365/- 50 मी. के लिए 155250, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 70 मी.
70 मी. के लिए 101250, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 100 मी.
100 मी. के लिए 70875, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 150 मी.
7 7.5 एच.पी.डी.सी. सबमर्सिबल 1,54,755/- 50 मी. के लिए 141750, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 70 मी.
70 मी. के लिए 94500, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 100 मी.
100 मी. के लिए 60750, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 150 मी.
8 10 एच.पी.ए.सी. सबमर्सिबल 2,44,543/- 50 मी. के लिए 207000, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 70 मी.
70 मी. के लिए 135000, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 100 मी.
100 मी. के लिए 94500, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 150 मी.
9 10 एच.पी.डी.सी. सबमर्सिबल 2,45,795/- 50 मी. के लिए 189000, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 70 मी.
70 मी. के लिए 126000, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 100 मी.
100 मी. के लिए 81000, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 150 मी.

MP मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना क्या है ?

इस योजना (Solar Pump Scheme for Madhya Pradesh) के तहत राज्य के उन किसानो को प्राथमिकता दी जाएगी जिनके यहाँ पर बिजली का विकास नहीं है जहाँ कृषि पम्पों हेतु स्थाई कनेक्शन नहीं है और जहाँ विद्युत कम्पनियों की वाणिज्यिक हानि अधिक है एवं ट्रान्सफार्मर हटा लिए गए हैं तथा जहाँ खेत की दूरी बिजली की लाईन से 300 मीटर से अधिक है या नदी ,बाँध के समीप ऐसे स्थान हो जहा पर पानी पर्याप्त मात्रा उपलब्ध हो, एवं फसलों के चयन के कारण जहाँ वाटर पंपिंग की आवश्यकता ज्यादा रहती हो।

इस योजना के तहत डीज़ल पम्प (Solar Pump Scheme for Madhya Pradesh) को के स्थान पर सरकार द्वारा खेत की सिचाई के लिए सोलर पम्प लगाए जायेगे ।

योजना के तहत सोलर पम्प के लिए कितना आवेदन दिया जाएगा

MP मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना (Solar Pump Scheme for Madhya Pradesh) के तहत केंद्र सरकार व मध्य प्रदेश सरकार द्वारा अधिकतम 90 प्रतिशत तक अनुदान दिया जा रहा है। इस योजना के तहत किसान सोलर पम्प प्राप्त करके अपने खेतो में आसानी से सिचाई कर सकते है।

यह भी पढ़िए…मध्‍यप्रदेश सरकार अब किसानों को सहकारी समितियों में बनाएगी सलाहकार, इससे यह फायदा रहेगा

सोलर पंप पर आवेदन हेतु निम्नलिखित नियम, शर्ते एवं दिशा-निर्देश

  • आवेदन केवल आवेदक की भूमि के लिए है।

आवेदक द्वारा निम्नलिखित जानकारी सत्यापित होना आवश्यक है

सोलर पम्प संयंत्र (Solar Pump Scheme for Madhya Pradesh) का उपयोग केवल सिंचाई हेतु होगा तथा इसका विक्रय या हस्तांतरण नहीं होगा।

आवेदक के पास सिंचाई का स्थाई स्त्रोत है एवं सोलर पम्प हेतु आवश्‍यक जल भण्‍डारण की आवश्यकता अनुसार उपयोग होगा।

मापदण्ड अनुसार मध्य प्रदेश ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड से सोलर पम्प स्थापित कराने के लिए सहमती प्रदान करना होगी।

मध्यप्रदेश (Solar Pump Scheme for Madhya Pradesh) ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड के निर्देशानुसार अग्रिम आवेदन राशि एवं शेष राशि निर्धारित अवधि में जमा कराने के लिए सहमती प्रदान करना होगी।

सोलर ऊर्जा आधारित जल पंपिग संयंत्र को विहित कार्य हेतु उपयोग में होगा एवं इसकी सुरक्षा एवं सामान्य रख-रखाव की जिम्मेदारी आवेदक की होगी।

यदि सोलर पम्प स्थापना के उपरांत उस पर किसी भी प्रकार की टूट-फूट या चोरी होती है तो उसकी जिम्मेदारी निगम की नहीं होगी।

आवेदन-पत्र में सोलर पम्पिंग सिस्टम (Solar Pump Scheme for Madhya Pradesh) के प्रकार के अनुरूप दी गई डिस्चार्ज की जानकारी स्टेण्डर्ड टेस्टिंग कण्डिशन के अनुरूप है एवं इस पर स्थापना स्थल एवं सोलर ऊर्जा (Solar Radiation) की उपलब्धता के अनुरूप डिस्चार्ज कम या ज्यादा हो सकता है।

सोलर प्लेटों की स्थापना हेतु छाया रहित स्थान उपलब्ध कराने की पूर्ण जिम्मेदारी आवेदक की होगी।

यदि सोलर पम्प स्थापना के उपरांत आवेदक का मोबाईल नम्बर परिवर्तित होता है तो आवेदक इसकी जानकारी मध्य प्रदेश ऊर्जा विकास निगम के जिला कार्यालय एवं स्थापित करने वाली इकाई को सूचित करना होगा ।

आवेदक (Solar Pump Scheme for Madhya Pradesh) द्वारा दिए गए खसरे/खसरे बटांकन पर विद्युत पम्प संचालित/संयोजित नहीं है «अथवा» आवेदक द्वारा दिए गए खसरे/खसरे बटांकन पर विद्युत पम्प लगा हुआ है परन्तु आवेदक द्वारा उसके कनेक्शन विच्छेद हेतु आवेदन कर दिया गया है।

स्थापित सोलर पम्प को स्थानांतरण नहीं होगा।

सोलर पम्प के कन्ट्रोलर एवं मोटर सेट इत्यादि से किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ की जिम्मेदारी आवेदक की होगी।

सोलर प्लेटों की समय-समय पर सफाई की जिम्मेदारी आवेदक की होगी ।

यह योजना (Solar Pump Scheme for Madhya Pradesh) सम्पूर्ण प्रदेश में जिलेवार निर्धारित लक्ष्य अनुसार समस्त कृषकों के लिए लागू होगी।

निर्धारित आवेदन के साथ निर्धारित राशि रू. 5,000/- ‘‘मध्य प्रदेश ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड, भोपाल’’ के पक्ष में ऑनलाईन (Solar Pump Scheme for Madhya Pradesh) माध्यम से ‘‘मध्य प्रदेश ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड, भोपाल’’ को आवेदन के साथ प्राप्त होना अनिवार्य है, अन्यथा आवेदन निरस्त किया जा सकता है।

सोलर पम्प स्थल उपयुक्त/चयन न होने पर पंजीयन राशि रू. 5,000/- निगम द्वारा आवेदक को वापिस होगी व कोई ब्‍याज देय नहीं होगा।

निर्धारित लक्ष्य से अधिक आवेदन प्राप्त होने की स्थिति में प्राप्त हुए समस्त आवेदनों (Solar Pump Scheme for Madhya Pradesh) का निर्धारित प्रक्रिया के माध्यम से हितग्राही कृषक का चयन किया जावेगा।

चयन की सूचना मध्य प्रदेश ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड द्वारा दिये जाने पर हितग्राही कृषक को शेष राशि ऑनलाईन माध्यम से शीघ्र ही मध्य प्रदेश ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड भोपाल को देनी होगी।

राशि प्राप्त होने के पश्‍चात् लगभग 120 दिवस में सोलर पम्पों की स्थापना का कार्य पूर्ण कर दिया जाएगा। विशेष परिस्थितियों में समयावधि बढ़ाई जा सकती है। स्थापना का कार्य पूर्ण करने में देरी होने पर म.प्र. ऊर्जा विकास निगम का किसी भी प्रकार का कोई भी दायित्व, जिम्मेदारी नहीं होगी।

सोलर पम्प (Solar Pump Scheme for Madhya Pradesh) की स्थापना एवं संतोषप्रद प्रदर्शन उपरांत समस्त संयंत्र हितग्राही को सौंप दिया जाएगा।

इस योजना के तहत् स्थापित सोलर पम्प की जानकारी वाला बोर्ड सोलर पम्प पर लगाया जाएगा।

हितग्राहियों द्वारा आवश्यकता पड़ने पर मुख्य रोड से साईट (जहाँ पर सोलर पम्प की स्थापना की जानी है) वहाँ तक के ट्रान्सपोर्टेशन (Solar Pump Scheme for Madhya Pradesh) व स्थापना में सहयोग दिया जाना होगा।

किसी भी प्रकार की टूट-फूट/चेारी या क्षतिग्रस्‍त होने की स्थिति में तीन दिवस में पुलिस में एफ.आई.आर. करें एवं स्‍थापनाकर्ता इकाई एवं जिला कार्यालय को भी तत्‍काल सूचित करें। ताकि स्‍थापनाकर्ता इकाई Insurance Claim हेतु कार्यवाही कर सकें।

इंश्योरेंस कंपनी द्वारा मान्‍य होने पर ही टूट-फूट / चोरी या क्षतिग्रस्‍त हेतु सुधार कार्य मान्‍य होगा।

पम्‍प स्‍थापना (Solar Pump Scheme for Madhya Pradesh) के उपरांत स्‍थापनाकर्ता इकाई से उनके कम्‍पनी का मुख्‍यालय का दूरभाष नम्‍बर प्रदेश स्‍तर का सर्विस सेन्‍टर का दूरभाष नम्‍बर एवं जिला स्‍तर के प्रतिनिधि का दूरभाष नम्‍बर अवश्‍य प्राप्‍त करें।

यह भी पढ़िए…..पीएम किसान लाभार्थी किसानों के लिए जरूरी खबर ; यह काम नहीं किया तो नहीं मिलेगी 13वीं किस्त

पीएम किसान में हुआ बड़ा बदलाव, अब सरकार ने शुरू की यह सुविधा

पीएम किसान योजना की 13वी किस्त को लेकर बड़ा अपडेट, इस दिन आएगी 13वीं किस्त

पीएम किसान योजना की 13वी क़िस्त के 2000 कैसे मिलेंगे, इसके लिए यह करना आवश्यक, जानें अपडेट

आपको चौपाल समाचार का यह आलेख अच्छा लगा हो तो इसे जरूर शेयर करें और नीचे दिए गए माध्यमों से जुड़कर हर खबर से अपडेट रह सकते है।

यह भी पढ़िए…..किसानों को बिना ekyc के नहीं मिलेंगे इन दो योजनाओं के 10000 रूपए, जानें लाभ लेने की पूरी प्रक्रिया

MP | प्रदेश के इन किसानों को सब्सिडी पर मिलेंगे कृषि यंत्र, लिस्ट जारी, यहां देखे अपना नाम

मध्यप्रदेश के किसानों को अब इन कृषि यंत्र पर मिलेगी सब्सिडी, यहां आवेदन करें 

जुड़िये चौपाल समाचार से-

ख़बरों के अपडेट सबसे पहले पाने के लिए हमारे WhatsApp Group और Telegram Channel ज्वाइन करें और Youtube Channel को Subscribe करें।

नोट :- धर्म, अध्यात्म एवं ज्योतिष संबंधी खबरों के लिए क्लिक करें।
नोट :- टेक्नोलॉजी, कैरियर, बिजनेस एवं विभिन्न प्रकार की योजनाओं की जानकारी के लिए क्लिक करें।

राधेश्याम मालवीय

मैं राधेश्याम मालवीय Choupal Samachar हिंदी ब्लॉग का Founder हूँ, मैं पत्रकार के साथ एक सफल किसान हूँ, मैं Agriculture से जुड़े विषय में ज्ञान और रुचि रखता हूँ। अगर आपको खेती किसानी से जुड़ी जानकारी चाहिए, तो आप यहां बेझिझक पुछ सकते है। हमारा यह मकसद है के इस कृषि ब्लॉग पर आपको अच्छी से अच्छी और नई से नई जानकारी आपको मिले।
Back to top button

Adblock Detected

Please uninstall adblocker from your browser.